दिल्लीवासी आप पार्टी और भाजपा के झगड़ों के बीच ही फंसे रह गये -शीला दीक्षित

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष श्रीमती शीला दीक्षित का किराड़ी जिला कांग्रेस में कांग्रेस द्वारा जिला अध्यक्ष श्री सुरेन्द्र कुमार के नेतृत्व में आयोजित एक विशाल कार्यकर्ता सम्मेलन में भव्य स्वागत किया गया। सभा में श्रीमती शीला दीक्षित के अलावा कार्यकारी अध्यक्ष श्री हारून यूसुफ, श्री राजेश लिलोठिया, पूर्व विधायक विजेंद्र सिंह व जय किशन, जगप्रवेश कुमार, निगम पार्षद मंदीप शौकीन, जसवीर कराला, नरेश लाकरा, पूर्व पार्षद पृथ्वी सिंह राठौर जिला महिला कांग्रेस की अध्यक्ष कविता डबास, योगेन्द्र लाकरा, राजेश कौशिक, पंडित बनवारी लाल, सहित हजारों कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद थे।

प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती शीला दीक्षित ने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि सम्मेलन में आपकी विशाल उपस्थिति दर्शाती है कि दिल्ली में कांग्रेस एक बार फिर अपने स्वर्णीम इतिहास को दोहराने जा रही है। उन्होंने कहा कि आज अपनी दिल्ली की बदहाली पर हम सबको बहुत अफसोस होता है कि हमारी दिल्ली 2013 के बाद बर्बादी की राह पर लगातार फिसलती जा रही है। दिल्लीवासियों ने केवल और केवल बदलाव की चाह में आम आदमी पार्टी को दिल्ली विधानसभा में अभूतपूर्व सफलता प्रदान करी इस उम्मीद पर कि वह अपने दावों और वायदो को गंभीरता से लेते हुए दिल्ली को और तीव्र गति से विकास की राह पर आगे बढ़ाऐगी, मगर हुआ इससे उल्टा और दिल्लीवासी आप पार्टी और भाजपा के झगड़ों के बीच ही फंसे रह गये।

श्रीमती शीला दीक्षित ने देश और दिल्ली के किसानों के प्रति चिंता जताते हुए कहा कि प्राकृतिक आपदा के तौर पर आई भयानक वर्षा और ओलावृष्टि से हमारे किसान भाईयों का बहुत नुकसान हुआ है, मगर दिल्ली की असंवेदनशील केजरीवाल सरकार ने अभी तक हमारे किसान भाईयों के लिए किसी प्रकार के मुआवजे का प्रावधान नही किया है, जिसके लिए हम पुरजोर मांग करते हैं।

श्रीमती शीला दीक्षित ने कहा कि दिल्ली में कांग्रेस की सरकार के कार्यकाल में हमने आपके क्षेत्र के महर्षि बाल्मीकि अस्पताल में आई.सी.यू. और प्रसूति वार्ड की स्थापना की थी, मगर आज दोनो ही बंद पड़े है। अस्पतालों में डाक्टरों की कमी है और इस स्थिति में क्षेत्र के निवासियों को इलाज के लिए भयंकर परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि बवाना इंडस्ट्रीयल एरिया जिसकी स्थापना कांग्रेस सरकार ने एक मॉडल  औद्योगिक क्षेत्र के रुप में की थी वहां आज आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार की नाकामियों की वजह से उद्योग भयावह स्थिति का सामना करने को मजबूर हैं। वहां कारखाना मालिकों को नित नये नियमों का हवाला देते हुए डराया और धमकाया जा रहा है और उनसे गैर कानूनी उगाही की सूचनाऐं प्राप्त होती रहती है। सीलिंग की जबरदस्त मार से लोग परेशान हैं गोवों में भी सीलिंग हो रही है रोजगार ठप हो रहे हैं बेरोजगारी बढ़ रही है लोग हताश हैं लेकिन दोनों सरकारें चुप्पी साधे बैठी हैं।

प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती शीला दीक्षित ने क्षेत्र की बदहाल सड़कों का जिक्र करते हुए कहा कि अपने शासन काल में हमने 4500 करोड़ रुपये लगाकर जिन सड़कों को बनवाया था आज उन सड़कों पर सिर्फ गड्डे नजर आते है। उन्होंने कहा कि भाजपा की केन्द्र सरकार हो चाहे आप पार्टी की दिल्ली सरकार दोनो ने जनता की समस्याओं की अनदेखी करते हुए इन बदहाल सड़कों की मरम्मत तक नही करवाई है।

श्रीमती शीला दीक्षित का कहना था कि झुग्गी झौपड़ी कॉलोनियों में रहने वाले आम नागरिकों को दोनो सरकारों ने सिर्फ सपने दिखाये और उनकी सहूलियतों की तरफ कोई ध्यान नही दिया। आईए, हम सब प्रण करें कि हम जनता की भलाई के लिए भाजपा की घंमडी केन्द्र सरकार और आम आदमी पार्टी की ड्रामेबाज सरकार के खिलाफ एकजुट होकर समर्पित भाव से दिल्ली की जनता के हित के लिए, जनसहयोग से, कंधे से कंधा मिलाकर काम करें ताकि दिल्लीवासियों को इन दोनो सरकारों से छुटकारा मिल सके। इसकी शुरुआत हम दिल्ली में आगामी लोकसभा चुनाव में सातों सीटें जीत कर कांग्रेस पार्टी और राष्ट्रीय कांग्रेस अध्यक्ष श्री राहुल गांधी जी के हाथ मजबूत करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here