गुजरात में भी सराहा गया एनबीटी का ‘पुस्तक प्रकाशन कोर्स’

करियर बनाने में खास है राष्ट्रीय पुस्तक न्यास(एनबीटी) का पुस्तक प्रकाशन कोर्स

अहमदाबाद। राष्ट्रीय पुस्तक न्यास,भारत(एनबीटी) द्वारा कौशल विकास योजना की तहत देशभर मेंपुस्तक प्रकाशन‘ का कोर्स समयसमय पर आयोजित किया जाता है। एनबीटी की ओर से यह कोर्स आमतौर पर एक सप्ताह अथवा एक माह तक संचालित किया जाता है। एनबीटी की ओर से गुजरात विश्वविधालयअहमदाबाद के संयुक्त तत्वावधान में पुस्तक प्रकाशन में व्यवसायोन्मुख सर्टिफिकेट पाठ्यक्रम”  का आयोजन 23 जनवरी से 31 जनवरी तक किया गया। इस पाठ्यक्रम में करीब 41प्रतिभागियों ने भाग लिया।

कौशल विकास योजना के अंतर्गत राष्ट्रीय पुस्तक न्यासभारत(एनबीटी) देशभर में पुस्तक संस्कृति को बढ़ावा देने और युवाओं को पब्लिशिंग इंडस्ट्री से जुड़े सभी व्यावहारिक और तकनीकी पहलुओं से अवगत कराने के लिए इस पाठ्यक्रम को संचालित करता है। इस कोर्स में पी.एच.डीएम.टेकबी.टेक और पत्रकारिता सहित कई अन्य विधाओं में उपाधि प्राप्त प्रतिभागी भाग लेते है। 23 जनवरी को गुजरात विश्वविधालयअहमदाबाद के संयुक्त तत्वावधान में पुस्तक प्रकाशन‘ के इस पाठ्यक्रम के शुभारंभ कार्यक्रम के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में गुजरात के महामहिम राज्यपाल श्री ओ पी कोहली मौजूद थे। वहीं शुभारंभ कार्यक्रम के दौरान एनबीटी के अध्यक्षप्रो. बल्देव भाई शर्मा और गुजरात विश्वविधालय के कुलपति प्रो. हिमांशु पंडयाएनबीटी के ट्रेनिंग इंचार्ज श्री नरेंद्र कुमार सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे। पाठ्यक्रम के शुभारंभ कार्यक्रम पर महामहिम राज्यपाल श्री ओ पी कोहली ने कहा कि एनबीटी इस पाठ्यक्रम के माध्यम से मोदी सरकार की कौशल विकास योजना की तहत देश भर में बहुत ही सराहनीय कार्य कर रहा है और असके लिए हम एनबीटी के अध्यक्षप्रो. बल्देव भाई शर्मा को धन्यवाद करते हैं। वहीं शुभारंभ कार्यक्रम के अवसर पर अध्यक्षप्रो. बल्देव भाई शर्मा ने कहा था कि राष्ट्रीय पुस्तक न्यास की ओर से देशभर में आयोजित किया जा रहा पुस्तक प्रकाशन‘ का कोर्स काफी प्रभावी है और इससे प्रकाशन के क्षेत्र में रोज़गार के कई अवसर उपलब्ध हो रहे हैं। इस कोर्स को करने के बाद अबतक कई प्रतिभागी बड़े प्रकाशन संस्थानों में कार्य कर रहे हैं। गुजरात विश्वविधालयअहमदाबाद के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस पाठ्यक्रम के दौरान प्रतिभागियों को प्रकाशन से संबंधित सभी पहलुओं से अवगत कराया गया। जिसमें पुस्तक लेखनसंपादनट्रांसलेशनप्रूफ रीडिंगबुक कंपोजिंग,डिजाइनिंगइलस्ट्रेशन या आर्टिस्ट वर्कप्रिंटिंग टेक्नोलॉजीसेल्स और मार्केटिंगऑनलाइन राइटिंग एंड एडिटिंगई-बुक्स पब्लिशिंगकॉपीराइट और डेस्कटॉप पब्लिशिंग सहित पब्लिशिंग इंडस्ट्री से जुड़े सभी पहलुओं के बारे में एक्सपर्ट के द्वारा बताया गया। साथ ही कोर्स के दौरान ही प्रतिभागियों को प्रैक्टिकल सेशन कराया गया और प्रतिभागियों को महात्मा गांधी के समय से ही चर्चित नवजागरण प्रेस में विज़िट कराया गया। नवजागरण प्रेस की भूमिका स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान खास रही है। आज 31 जनवरी को पाठ्यक्रम का समापन समारोह और सर्टिफिकेट वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान गुजरात विश्वविधालय की निदेशक प्रो. रंजना अरगडेप्रो. नीलो तमा गांधीएनबीटी के ट्रेनिंग इंचार्ज श्री नरेंद्र कुमार एवं अन्य अतिथिगण मौजूद थे। वहीं अपने बधाई संदेश के माध्यम से एनबीटी के अध्यक्ष प्रो. बल्देव भाई शर्मा ने सभी प्रतिभागियों को शुभकामनाए देते हुए कहा कि सभी प्रतिभागी प्रकाशन के क्षेत्र में आगे बढ़े और भविष्य में भी एनबीटी सदैव उनके साथ होगा। इस अवसर पर श्री नरेंद्र कुमार ने कहा कि प्रकाशन रोजगार के नजरिए से बहुत ही उपयोगी क्षेत्र हैइससे जुड़कर आज बड़ी संख्या में युवा अपना रोजगार पा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here